Top Most Popular Chhatrapati Shivaji Maharaj Motivational Quotes

Top Most Popular/ Famous Inspirational and Motivational Chhatrapati Shivaji Maharaj Quotes, Sayings, Slogans, Thoughts and Speeches in Hindi Fonts with Pictures and Images HD. छत्रपति शिवाजी महाराज के अनमोल वचन व नारे, शिवाजी के प्रेरणादायक विचार, शिवाजी महाराज के प्रेरक उद्धरण, छत्रपति शिवाजी महाराज के भाषण, वाणी, वक्तृता.

Famous Shivaji Maharaj Motivational Quotes

Shivaji Bhonsle was an Indian warrior king and a member of the Bhonsle Maratha clan. Shivaji carved out an enclave from the declining Adilshahi sultanate of Bijapur that formed the genesis of the Maratha Empire. In 1674, he was formally crowned as the chhatrapati of his realm at Raigad.

We share best picture/ images/ wallpaper quotes of All time on mother, life, enemy, freedom, right, victory, power, knowledge, strength, success and failure   by Indian Maratha King Chhatrapati Shivaji Maharaj. Everyone must share below Quotes on Facebook, Whatsapp, Pinterest, Twitter, Instagram and other social networking site.

छत्रपति शिवाजी महाराज के अनमोल विचार

छत्रपति शिवाजी महाराज प्रेरक उद्धरण

If man has self-realization, then he can wrestle with pride in all the world.

अगर मनुष्य के पास आत्मबल है, तो वो समस्त संसार पर अपने हौसले से विजय पताका लहरा सकता है। ~ छत्रपति शिवाजी महाराज

This life should not be expected only for a good day, because like days and nights, good days have to be changed too.

इस जीवन मे सिर्फ अच्छे दिन की आशा नहीं रखनी चाहिए, क्योंकि दिन और रात की तरह अच्छे दिनो को भी बदलना पड़ता है। ~ छत्रपति शिवाजी महाराज

As long as the grapes are not made, the sweet wine is not made, so long as man does not have pain in pain, his best talent does not come out.

अंगूर को जब तक न पेरो वो मीठी मदिरा नहीं बनती, वैसे ही मनुष्य जब तक कष्ट मे पिसता नहीं, तब तक उसके अंदर की सर्वौत्तम प्रतिभा बाहर नही आती। ~ छत्रपति शिवाजी महाराज

A person who is always engaged in his work, in the trance of time. Time for him changes itself.

जो मनुष्य समय के कुचक्र मे भी पूरी शिद्दत से, अपने कार्यो मे लगा रहता है। उसके लिए समय खुद बदल जाता है। ~ छत्रपति शिवाजी महाराज

Vengeance is always burns man, abstinence only way to overcome the vendetta.

प्रतिशोध मनुष्य को जलाती रहती है, संयम ही प्रतिशोध को काबू करने का उपाय होता है। ~ छत्रपति शिवाजी महाराज

It is beneficial to think of the result before doing any work, because our next generation follows it.

कोई भी कार्य करने से पहले उसका परिणाम सोच लेना हितकर होता है, क्योकी हमारी आने वाली पीढी उसी का अनुसरण करती है। ~ छत्रपति शिवाजी महाराज

Waking up our self-consciousness, recognizing ourselves, and thinking of the welfare of mankind, can rule the whole world.

अपने आत्मबल को जगाने वाला, खुद को पहचानने वाला, और मानव जाति के कल्याण की सोच रखने वाला, पूरे विश्व पर राज्य कर सकता है। ~ छत्रपति शिवाजी महाराज

Freedom is a boon, which everyone has the right to receive.

स्वतंत्रता एक वरदान है, जिसे पाने का अधिकारी हर कोई है। ~ छत्रपति शिवाजी महाराज

A small step can be achieved on a small target, later too.

एक छोटा कदम छोटे लक्ष्य पर, बाद मे विशाल लक्ष्य भी हासिल करा देता है। ~ छत्रपति शिवाजी महाराज

It is not necessary that in the face of adversity, in front of the enemy only, bravery and heroism is in victory.

जरुरी नही कि विपत्ति का सामना, दुश्मन के सम्मुख से ही करने मे, वीरता हो वीरता तो विजय मे है। ~ छत्रपति शिवाजी महाराज

When you are enthusiastic, the mountain also looks like a clay pile.

 

जब हौसले बुलंद हो, तो पहाड़ भी एक मिट्टी का ढेर लगता है। ~ छत्रपति शिवाजी महाराज

Do not think of the enemy as weak, then do not be too scared to feel too strong.

शत्रु को कमजोर न समझो, तो अत्यधिक बलिष्ठ समझ कर डरना भी नही चाहिए। ~ छत्रपति शिवाजी महाराज

जब लक्ष्य जीत की हो, तो हासिल करने के लिए कितना भी परिश्रम, कोई भी मूल्य, क्यो न हो उसे चुकाना ही पड़ता है। ~ छत्रपति शिवाजी महाराज

सर्वप्रथम राष्ट्र, फिर गुरु, फिर माता-पिता, फिर परमेश्वर अतः पहले खुद को नही राष्ट्र को देखना चाहिए। ~ छत्रपति शिवाजी महाराज

यदि एक पेड़ जो कि इतनी उच्च जीवित सत्ता नहीं है, इतना सहिष्णु और दयालु हो सकता है कि किसी के द्वारा मरे जाने पर भी उसे मीठे आम दे, तो एक राजा होकर, क्या मुझे एक पेड़ से अधिक सहिष्णु और दयालु नहीं होना चाहिए? ~ छत्रपति शिवाजी महाराज

शत्रु चाहे कितना ही बलवान क्यों न हो, उसे अपने इरादों और उत्साह मात्र से भी परास्त किया जा सकता है। ~ छत्रपति शिवाजी महाराज

कभी अपना सिर मत झुकाव, हमेशा ऊँचा रखो। ~ छत्रपति शिवाजी महाराज

जरुरी नहीं कि विपत्ति का सामना, दुश्मन के सम्मुख से ही करने में वीरता हो। वीरता तो विजय में है। ~ छत्रपति शिवाजी महाराज

वास्तव में, इस्लाम और हिन्दू धर्म अलग-अलग मामले हैं। वे उस सच्चे दिव्य चित्रकार द्वारा रंगों को मिलाने और खाका तैयार करने के लिए प्रयोग किये जाते हैं। अगर यह एक मस्जिद है, तो उसकी याद में ईबादत के लिए आवाज दी जाती है। यही एक मंदिर है तो सिर्फ उसी के लिए घंटियाँ बजाई जाती हैं। ~ छत्रपति शिवाजी महाराज

भले हर किसी के हाथ में तलवार हो, यह इच्छाशक्ति है जो एक सत्ता स्थापित करती है। ~ छत्रपति शिवाजी महाराज

आत्मबल, सामर्थ्य देता है, और सामर्थ्य, विद्या प्रदान करती है। विद्या, स्थिरता प्रदान करती है, और स्थिरता, विजय की तरफ ले जाती है। ~ छत्रपति शिवाजी महाराज

नारी के सभी अधिकारों में, सबसे महान अधिकार माँ बनने का है। ~ छत्रपति शिवाजी महाराज

एक सफल मनुष्य अपने कर्तव्य की पराकाष्ठा के लिए, समुचित मानव जाति की चुनौती स्वीकार कर लेता है। ~ छत्रपति शिवाजी महाराज

एक पुरुषार्थी भी, एक तेजस्वी विद्वान् के सामने झुकता है। क्योंकि पुरुषार्थ भी विद्या से ही आती है। ~ छत्रपति शिवाजी महाराज

जो धर्म, सत्य, श्रेष्ठता और परमेश्वर के सामने झुकता है। उसका आदर समस्त संसार करता है। ~ छत्रपति शिवाजी महाराज

बदला लेने की भावना मनुष्य को जलाती रहती है, संयम ही प्रतिशोध को काबू करने का एक मात्र उपाय है। ~ छत्रपति शिवाजी महाराज

यद्यपि सबके हाथ में एक तलवार होती है लेकिन वो ही साम्राज्य स्थापित करता है जिसमें इच्छाशक्ति होती है। ~ छत्रपति शिवाजी महाराज

जब आप अपने लक्ष्य को तन मन से चाहोगे तो माँ भवानी की कृपा से जीत आपकी ही होगी। ~ छत्रपति शिवाजी महाराज

अपना लक्ष्य पाने के लिए हर उस व्यक्ति को वचन दो जिनकी आपको जरुरत है। परंतु सिर्फ संत, माहत्मा लोगों को ही दिए हुए वचन पुरे करो, चोरों को दिए हुए नहीं। ~ छत्रपति शिवाजी महाराज

इस दुनिया में हर व्यक्ति को स्वतंत्र रहने का अधिकार है। और उस अधिकार को पान के लिए वो लड़ भी सकता हैं। ~ छत्रपति शिवाजी महाराज

हम जिस जगह रहते है उस जगह का और पूर्वजों का इतिहास हमें मालूम होना चाहिए। ~ छत्रपति शिवाजी महाराज

उत्साह मनुष्य की ताकत, संयम और अडिगता होती है। सब का कल्याण मनुष्य का लक्ष्य होना चाहिए। तो कीर्ति उसका फल होगा। ~ छत्रपति शिवाजी महाराज

जरुरी नहीं की खुद की गलती से सीखा जाए। हम दूसरों की गलती से भी बहुत कुछ सिख सकते हैं। ~ छत्रपति शिवाजी महाराज

हर व्यक्ति को विद्या ग्रहण करनी चाहिए। क्योंकि लड़ाई में जो काम शक्ति नहीं करती वो काम युक्ति से होता हैं और युक्ति विधा से आती हैं। ~ छत्रपति शिवाजी महाराज

जो मनुष्य बुरे समय मे भी पूरी शिद्दत से, अपने कार्यो मे लगा रहता है। उसके लिए समय खुद बदल जाता है। ~ छत्रपति शिवाजी महाराज

जो व्यक्ति स्वराज्य और परिवार के बीच स्वराज्य को चुनता है वही एक सच्चा नागरिक होता हैं। ~ छत्रपति शिवाजी महाराज

किसी भी लक्ष्य को पाने के लिए नियोजन महत्वपूर्ण होता हैं। केवल नियोजन से ही आप लक्ष्य पा सकते हैं। ~ छत्रपति शिवाजी महाराज

किसी भी चीज़ को पाने का हौसला बुलंद हो तो पर्वत को भी मिट्टी में बदला जा सकता हैं। ~ छत्रपति शिवाजी महाराज